National Education policy 2020 in hindi । New Education Rules 2020 in hindi .

Daily Hindi Education : National Education Policy 2020 in hindi । NEP 2020। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 हिन्दी में ।


केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (  National Education Policy 2020 ) को पास करने की अनुमति दे दी है । नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 34 वर्ष पुरानी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 की जगह लेगी । 


नई शिक्षा नीति को तैयार करने के लिए 2017 में पूर्व ISRO प्रमुख डॉ . के कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया था । इस समिति ने मई 2019 में राष्ट्रीय शिक्षा नीति का मशवरा पास किया था।

National education policy 2020। New education policy 2020। Changes in new education Policy । NEP 2020 in hindi.
New Education Policy 2020

भारत की पहली राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1968 में इंदिरा गांधी की सरकार में बनाई गई थी  और भारत की दूसरी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 में राजीव गांधी की सरकार में आई थी । जिसे 1992 में पी.वी नरसिम्हा राव ( Narsinha rav )  द्वारा संशोधित किया था । नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति स्वतंत्रता के बाद भारत की तीसरी शिक्षा नीति है । जिसे 2021 में लागू करने का फैसला लिया गया है ।  

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में निम्न स्तर से लेकर उच्च स्तर तक कई बड़े बदलाव किए गए हैं  । जिनसे विद्यार्थियों के लिए शिक्षा ग्रहण करना बहुत ही आसान हो जाएगा । नई शिक्षा नीति में बड़े बदलाव किए गए हैं जैसे कि, बोर्ड परीक्षाओं वाली कक्षाओं का भार कम किया जायेगा, पढ़ाई बीच में छोड़ देने पर बेकार नहीं जाएगी, 10+2 का फॉर्मेट बदल करें 5 प्लस 5+3+3+4  कर दिया गया है और विद्यार्थियों को Technology,Business,Software coding जैसी शिक्षाएं प्रदान कराई जाएंगी जिनसे वह भविष्य में आसानी से रोजगार प्राप्त कर सकेंगे और बहुत ऐसे बदलाव किए हैं ।जिनसे छात्रों के लिए शिक्षा को बहुत आसान कर दिया गया है ।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति ( 2020 ) के बड़े बदलाव/ New Education Policy 2020.


  1.  पुरानी शिक्षा नीति में 10 + 2 का फॉर्मेट चलता आ रहा था लेकिन नई शिक्षा नीति में इस फॉर्मेट को बदल कर 5 + 3 + 3 + 4 का फॉर्मेट कर दिया गया है ।

  • नई शिक्षा नीति में पहले 5 वर्ष में से 3 वर्ष प्री प्राइमरी के होंगे और कक्षा एक तथा कक्षा दो सहित  फाउंडेशन स्टेज शामिल होंगे । इन कक्षाओं में बच्चों का स्कूली Syllabus कम होगा तथा बच्चों का खेलकूद और अन्य गतिविधियों  पर भी ध्यान दिया  जाएगा । इन कक्षाओं में बच्चों के लिए पढ़ाई का एक नया पाठ्यक्रम तैयार किया जाएगा जो कि NCERT  द्वारा तैयार किया जाएगा ।

2. अगला स्टेज 3 वर्ष का होगा जिसमें कक्षा 3 से                        कक्षा 5   तक शामिल है ।

  • इन कक्षाओं की पढ़ाई से बच्चों का भविष्य  तैयार करवाया  जाएगा । इन कक्षाओं में बच्चों का परिचय कई विषयों से कराया जाएगा जैसे कि विज्ञान, गणित, संस्कृतिक, कला और सामाजिक विज्ञान जैसे विषयों से कराया जाएगा ।

3. तीसरा स्टेज Middle Stage जिसमें कक्षा छठी              से कक्षा आठवीं तक शामिल हैं ।


  • इस स्टेज में छात्रों को निश्चित पाठ्यक्रम पर पढ़ाया जाएगा ।
  • छठी कक्षा में पहुंचने के बाद छात्रों को कंप्यूटर कोडिंग तथा प्रोफेशनल शिक्षा दी जाएगी ताकि बच्चे भविष्य में आगे बढ़ सके । 
  • अब भारत के बच्चे छोटी उम्र में ही चीन की तरह मोबाइल फोन और सॉफ्टवेयर बना सकेंगे ।

  • अब कक्षा छठी से ही छात्रों को Internship करने का मौका मिलेगा  यानी यदि किसी छात्र के किसी खास विषय में रुचि है और वह उसकी Practical knowledge हासिल करना चाहता है । तो वह इस विषय से जुडी Internship कहीं भी कर सकता है । उदाहरण के लिए जैसे कि यदि आपके बच्चे को सॉफ्टवेयर में रुचि है तो वह किसी सॉफ्टवेयर कंपनी में अपने स्कूल के दौरान ही Internship  के लिए जा सकता है ।

4. आखिरी स्टेज में 9वी से 12वीं तक की कक्षाएं शामिल है।

National education policy 2020। New education policy 2020। Changes in new education Policy । NEP 2020 in hindi। New rules of education.
NEP 2020 in India 

  • इस स्टेज में छात्रों की विश्लेषण क्षमता को बढ़ाया जाएगा । उनके अंदर किसी विषय के प्रति गहरी समझ पैदा की जाएगी । और उन्हें भविष्य में किसी बड़े लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया जाएगा ।

  • अब नवी से बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई सेमेस्टर के आधार पर होगी । 1 वर्ष के अंदर 2 सेमेस्टर होंगे ।  6 महीने बाद आपका सेमेस्टर होगा और दोनों सेमेस्टर्स के अंकों को जोड़कर आपकी वर्ष की अंतिम Marksheet तैयार की जाएगी । 


           Stream System  होगा खत्म ।


  •  पुरानी शिक्षा नीति के अंदर कोई भी छात्र दसवीं कक्षा के बाद दो विषयों का चयन नहीं कर सकता था । लेकिन नई शिक्षा नीति के अंदर Stream system को समाप्त कर दिया गया है । अब कोई भी छात्र अपने मनपसंद विषयों को चुन सकेगा। जैसे कि : पहले विज्ञान का क्षेत्र कॉमर्स नहीं पढ़ सकता था, आर्ट्स का छात्र विज्ञान नहीं पढ़ सकता था लेकिन नई शिक्षा नीति में Biology का छात्र Biology  के साथ-साथ Arts  की पढ़ाई कर सकता है । कॉमर्स का छात्र कॉमर्स के साथ-साथ विज्ञान की पढ़ाई भी कर सकता है ।
National education policy 2020। New education policy 2020। Changes in new education Policy । NEP 2020 in hindi। New rules of education.
National Education Policy 2020

  • संभव है कि इन विषयों के चयन के लिए एक पूल तैयार किया जाएगा । और आप को पूल  से ही अपने विषयों का चुनाव करना होगा यदि आप के पुल में वह विषय शामिल है जिसे आप पढ़ना चाहते हैं तो तभी आप उसकी पढ़ाई कर सकेंगे लेकिन यदि आपके फूल में यह विषय शामिल नहीं है जिसे आप पढ़ना चाहते हैं तो आप उसकी पढ़ाई नहीं कर सकेंगे ।

            पांचवी कक्षा तक होगी मातृभाषा में पढ़ाई  ।


  • नई शिक्षा नीति के अंदर अब पांचवी कक्षा तक मात्र भाषा में पढ़ाई होगी । अब अंग्रेजी भाषा में पढ़ाई की अनिवार्यता नहीं रहेगी । अब आप अपने बच्चों को पांचवी कक्षा तक अपनी क्षेत्रीय भाषा में पढ़ा सकेंगे ।

  • रिपोर्ट कार्ड 360 डिग्री Assesment के आधार पर बनेगा । अब किसी भी छात्र को अंतिम अंक देते वक्त उसके व्यवहार, Curriculam activities, उसके प्रदर्शन और उसकी मानसिक क्षमताओं पर भी ध्यान रखा जाएगा ।

  • बोर्ड के छात्रों को अपनी मनपसंद भाषा में परीक्षाएं देने की अनुमति दी जाएगी ।
  • छात्रों का आकलन उसके अध्यापक ,सहपाठी  तथा खुद छात्र द्वारा भी किया जाएगा । 








Post a Comment

1 Comments

Please do not enter any spam link in the comment box.